Tata Bahaar: टाटा बहार टॉनिक के फायदे, उपयोग, सावधानिया, कीमत एंव डोज

फसलो में फूलो की संख्या बढ़ाने केलिए Tata Bahaar टॉनिक का इस्तेमाल कैसा रहेगा ? इसके साथ क्या हम फफूंद नाशक , कीटनाशक , जलद घुलनशील खाद का इस्तेमाल कर सकते है ? इसका सही dose क्या है ? किन फसलो पर Tata bahar का छिडकाव हम कर सकते है ? इसको देने का सही समय कोनसा रहता है ?

इसके इलावा किसान भाई आज हम जानेंगे Tata bahaar से जुडी अन्य जरुरी बाते क्या है ? जानेंगे विस्तारसे.

Tata bahar में कोनसा टेक्निकल है ?

इसमे हाइड्रोलायिज प्रोटीन ( Hydrolysed protein अमिनो एसिड ) 20-२१ % + हाइड्रोलायिज कार्बोहायड्रेट ( Hydrolysed Carbohydrates ) 6.25 – 6.75 % + Total Dissolved solids 50-52% का अच्छा मिश्रण है. जिसे फल सब्जी के अवशेषों से बनाया जाता है. यंह फसलो पर एक प्रकार से पौध विकास का काम करता है. यंह Plant growth promoter है.

यदि हम इसे ओर गहरायी से बताये तो इसमे हमे ग्लुटामिक एसिड 1.39% +सेरिन 1.3% + लयूसिन 1.2% + अलनायीन 1% + प्रोलायिन 0.9% + अस्पर्टिक एसिड 0.6% + थ्रीनायींन 0.6% + हिस्टीदायिन 0.5 % + लायसिन 0.4 % + ग्लायसिन 0.4 % + अर्गिनायींन 0.4% + वलिन 0.3 % + मेथिओनिन 0.3 % + त्य्रोसिन 0.25 % + फिनाइल अलानिन 0.25 % + इसोलयूसिन 0.2 % पाया जाता है. यंह सारे तत्व tata bahaar टॉनिक की सरंचना बताते है.

tata bahaar

Read more : चमत्कार टॉनिक इतना फेमस क्यों है ? जरूरी बाते क्या है ?

किन फसलो पर Tata bahar का छिडकाव हम कर सकते है ?

सेंफ, बेंगन, चना, मिर्च, कपास, अदरक, लहसुन, अंगूर, मुंग, उड़द , मूंगफली, भिंडी, आम, प्याज , आलू, अरहर, सोयाबीन , टमाटर , हल्दी , जीरा, धनिया  और लौकी पर इसका छिडकाव हम कर सकते है. लगबग सभी सब्जी वर्गीय और बागवानी में इसका इस्तेमाल किया जा सकता है.

Tata bahaar को ऑनलाइन मंगवा सकते है क्या ? जरुर मंगवा सकते है. अभी ऑनलाइन ख़रीदे

tata bahaar

फसलो पर Tata bahaar के छिडकाव से क्या फायदे मिलते है ?

  • फसलो की गुणवता को बढाता है. हरित लवक की मात्रा बढाता है. फसलो में हरापन लाता है.
  • फल-फूलो की संख्या में बढ़वार करता है. साथ ही  फल-फूलो की गलन को कम करता है.
  • फसलो को तनाव से दूर करता है. पौधो की सेहत बनाता है. उपज में बढ़वार करता है.
  • जरुरी पोषक तत्वों को मिट्ठी से फसलो में अवशोषित करवाता है. जिससे फसल की क्वालिटी में सुधार आता है.

टाटा बहार का मार्केट price कितना है ?

इसका 500 ml का पैक लगभग 350-400 रूपये तक आ जाता है. मार्केट और लोकेशन के अनुसार इसका रेट कम या जादा हो सकता है. किसान भाई आप इसे ऑनलाइन भी मंगवा सकते है. मंगवाने केलिए आप आगे की लिंक पर जा सकते है. अभी ऑनलाइन मंगवाए

इसके इलावा आप इसे अपनी नजदीकी कृषि केंद्र से खरीद सकते है. ओर इसका छिडकाव कर सकते है.

tata bahaar

टाटा बहार का सही dose क्या है ? कितना dose ले ?

चना , कपास , मूंगफली , सोयाबीन , उड़द , मटर और लौकी पर 40-45 दिन बाद इसका छिड़काव आप 30-35 ml प्रति 15 लिटर पानी लेकर कर सकते है.

फसल – मिर्च , शिमला मिर्च , टमाटर , जीरा और बेंगन पर 50-55 दिन बाद 30-35 ml प्रति 15 लिटर पानी लेकर छिडकाव कर सकते है .

फसल – प्याज ,लहसुन , आलू  केलिए 30-35 ml प्रति 15 लिटर पानी लेकर 55-60 दिन बाद छिडकाव कर सकते है.

अदरक और हल्दी केलिए 30 -35 ml प्रति 15 लिटर पानी लेकर 71 -100 दिन बाद छिड़काव कर सकते है.

मेंथा, मुंग और अंगूर पर बुवाई से 30-35 दिन बाद 30-35 ml प्रति 15 लिटर पानी लेकर छिडकाव कर सकते है.

सेंफ के शुरवाती मटर साइज़ के आकार के दौरान 30-35 ml प्रति 15 लिटर पानी में छिडकाव कर सकते है.

Read more : प्लानोफिक्स टॉनिक के छिडकाव का सही समय कोनसा है ?

Pro tip : Tata bahaar के साथ आप NPK जलद घुलनशील खाद, कीटनाशक, फफूंद नाशक, माइक्रो नुट्रीयंट टॉनिक का इस्तेमाल आप कर सकते है. बस ध्यान रहे की आप इसे किसी भी खरपतवार नाशक के साथ ना दे.

इसके इलावा आप इसे 35 डिग्री से अधिक तापमान होने पर स्प्रे ना करे फसलो में रिजल्ट कम देखनेको मिलते है. फसलो पर रिजल्ट टाइम बात करे तो इसका लगभग 10-15 दिन तक अच्छा रिजल्ट देखनेको मिलता है.

Read more: Profex super कीटनाशक से जुडी जरूरी बाते क्या है ?

अन्य बाते :

कपास : छिडकाव के तुरंत बाद यंह टॉनिक अपना काम शुरू कर देता है. फसल में हरित लवक की मात्रा को बढाता है. कपास की फसल को तनाव से दूर करता है. फसल को मिट्ठी से जरूरी पोषक तत्वों को अवशोषित करनेको कार्यान्वित करता है. फल-फूलो की संख्या में बढ़ोतरी करता है. टिंडो की क्वालिटी बढाता है.

सोयाबीन: फूलो की संख्या में वृद्धी करता है. फल्लियो की गुणवत्ता को बढाता है. फसल को हरीभरी बनाता है. फसलो पर आनेवाले अनचाही तनाव को यंह दूर करता है. प्रकाश संश्लेषण की क्रिया जनरेट करता है. मिट्ठी से पोषक तत्वों को अवशोषित करनेकी की क्रिया को यंह सुचारू करता है. फसलो में चयापचन की क्रिया सुधरती है.

चना :

गुणवता में सुधार करता है. हरित लवक की मात्रा को बढाता है!! फूलो की संख्या में बढोती करता है!! फुल गलन की समस्या को यंह कम करता है. प्रकाश संश्लेषण की क्रिया को सुचारू करता है!! चने में अधिक धुप से आनेवाले तनाव को यंह कम करता है. फफूंद नाशक दवाई की साथ यंह असानिसे घुल मिल जाता है.

मूंगफली : फसलो को तनाव से दूर करता है. मिट्ठी से जरुरी पोषक तत्वों को अवशोषित करनेकी क्रिया को सुचारू करता है. फल्लियो की क्वालिटी को सुधारता है. फल्लियो की संख्या में बढ़वार करता है. फसलो को हराभरा करता है. रोगों से लड्नेकी ताकत फसल को प्रदान करता है. फसल की गुणवता को सुधरता है.

मिर्च : छिडकाव के तुरंत बाद ही यंह अपना काम शुरू कर देता है!! मिर्च में प्रकाश संश्लेषण की क्रिया को जनरेट करता है. मिर्च की गुणवता को यंह बढाता है. जिससे मिर्च को असानिसे मार्केट में रेट मिलनेमे आसानी मिलती है. मिर्च में अधिक वजन और तीखापन लानेमे यंह मदत करता है. रोगों से लढ़ नेकी क्षमता को यंह बढाता है. जिससे मिर्च में दवाई का खर्चा यंह कम करनेमे मदत करता है.

तो किसान भाई Tata bahaar की यंह जानकारी आपको केसी लगी हमें कमेंट में जरुर बताये , आपका सुजाव हमारे लिए जरूरी है. एसिही अन्य महत्वपूर्ण दवाईयो की latest जानकारी केलिए आप हमारा ब्लॉग subscribe कर सकते है और अन्य किसान भाई से share कर सकते है. पोस्ट को पढने केलिये आपका बहोत बहोत धन्यवाद् , तबतक किसान भाई ख्याल रखिये अपना और अपनी फसल का  !! जय हिन्द जय भारत !!

अक्सर पुछे जानेवाले सवाल ? FAQ ?

क्या हम टाटा bahaar को कपास की फसल में इस्तेमाल कर सकते है ? हाँ जरुर कर सकते है.

Tata bahaar को फफूंद नाशक दवाई का इस्तेमाल कर सकते है ? हाँ . कर सकते है.

टमाटर और मिर्च में Tata bahaar का छिडकाव कर सकते है क्या हम ? कर सकते है.

क्या टाटा बहार से फसलो में फल- फूलो की संख्या में वृद्धी होती है ? हाँ.

कीटनाशक दवाई के साथ टाटा बहार को दे सकते है क्या हम ? जरुर दे सकते है.

क्या टाटा बहार ऑनलाइन मिल सकता है ? हाँ यंह ऑनलाइन मिल जाता है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top