Roko Fungicide: रोको फफूंद नाशक का उपयोग, फायदे, लाभ, कीमत एंव डोज Thiophanate Methyl

किसान भाई अरहर की खेती कर रहे है. या आपकी टमाटर की खेती है !!  powdery mildew और Fusarium Wilt का प्रकोप पौधे पर देखनेको मिलता है. जिससे टमाटर और अरहर की उपज में गिरावट आती है साथ ही गुणवत्ता कम होती है. फसल का नुकसान होता है. किसान भाई आज हम बात करेंगे की, आप कैसे  Thiophanate Methyl ( ROKO fungicide ) की मदत से powdery mildew और Fusarium wilt को ख़त्म कर सकते है.

ताकि हमारी फसल का नुकसान होने से बचे और हमे अच्छी उपज मिले. मार्केट में अच्छा भाव मिले!! साथही हम जानेंगे Roko fungicide से जुडी कुछ अन्य महत्वपूर्ण बाते, जिसमे किन किन फसलो में हम इसका इस्तेमाल कर सकते है ? कितनी dose लेने है ? कितना इसका मार्केट रेट है ? क्या यंह हमारे फसलो को कोई नुकसान तो नहीं पहुंचाता है ? powdery mildew, Fusarium wilt किन कारणों से होता है? क्या इसके लक्षण होते है ? किसान भाई जानेंगे विस्तारसे.

यंह फफूंद किन कारणों से होते है ?

बतादे की powdery mildew यंह Podosphaera xanthii  फफूंद की वजह से होता है. जैसेही इन्हे अपने अनुकूल वातावरण मिलता है, यंह पौधे में लग जाता है!! आप इसमे देखेंगे की जिन पौधे पर इसका अटैक होता है, उस पौधे की पत्तियों के निचली सतह पर हल्के हल्के सफ़ेद दाग दिखाई देंगे!! जैसे जैसे इनकी संख्या बढती है कहनेका मतलब है फफूंद की बढ़वार होती है. पत्तिया पिली पड़ने लगती है, कुछ दिन बाद पत्तिया सुख जाती है.

roko fungicide

साथही Fusarium wilt यंह  Fusarium oxysporum  नामक फफूंद की वजह से होता है!! एक रिसर्च से पता चलता है की अगर यंह फफूंद टमाटर की फसल में ज्यादा हो जाये तो लगबग 45% तक उपज में गिरावट कर देता है. बतादे की यंह फफूंद जमीन मेही रहता है!! जैसेही इसे अपने अनुकूल तापमान यानिकी 24°C से अधिक मिलता है.  यंह फफूंद पौधे में लग जाता है. आप इसमे देखेंगे की पौधे की पत्तिया सूखने लगती है और कुछ समय बाद पौधा सुख जाता है.

ROKO fungicide का छिडकाव हम किन किन फसलो पर कर सकते है ?

मुख रूपसे हम इसका छिडकाव टमाटर, धान, मिर्च, आलू और अरहर में कर सकते है. इसके अलावा अंगूर और सेंफ में कर सकते है!! किसान भाई अब बात करते है इसमे मिलनेवाले टेक्निकल कंटेंट के बारेमे ?

roko fungicide

TECHNICAL CONTENT-

किसान भाई इसमे हमे  Thiophanate Methyl 70%  WP जो की wettable powder फॉर्म में आता है!! यंह एक broad spectrum systemic fungicide है. जो systemic तरीकेसे काम करता है , कहनेका मतलब है पौधे के xylem की मदत से पुरे पौधे में फेलकर फफूंद को ख़त्म करता है. साथही यंह preventive है. पौधे पर फफूंद को आनेसे रोकता है. ओर curative property रखता है, जिससे पौधे पर लगे हुये फफुन्दो को ख़त्म करता है.

अब किसान भाई जानते है इसका मोड ऑफ़ एक्शन फफूंद पर कैसा होता है ?

यंह फफूंद की बाहरी कोशिकावो तोडकर फफूंद की अंदर प्रवेश करता है और फंगस की membrane को ख़त्म करता है!! जिससे फफूंद धीरे धीरे मरने लगता है अंत: फफूंद ख़त्म हो जाता है!! रिजल्ट टाइम कि बात करे तो यंह 10-15 दिन तक अच्छा रिजल्ट देता है. इसे आप टॉनिक, NPK, किसी भी कीटनाशक के साथ मिक्स करके स्प्रे कर सकते है!! लेकिन आप खरपतवार नाशक के साथ मिक्स ना करे. फसल को नुकसान पहुंच सकता है!! किसान भाई अब बात करते है फसलो को मिलनेवाले फायदों के बारेमे ?

CROP BENEFITS-

टमाटर :

जैसेही हम इसका छिडकाव करते है, यंह तुरंत पौधे में फेल जाता है. अपना कम शुरू कर देता है. यंह पौधे को तनाव से बचाता है!! फूलो की गलन कम करता है. टमाटर में मुखत: Damping off, stem rot, leaf spot और fusarium wilt को कंट्रोल करता है!! पौधे को सुरक्षा प्रदान करता है. उपज को बढ़ाने में सहायक है!! पौधे को मजबूती देता है साथही विकास करनेमे सहायता करता है. पौधे को हराभरा रखनेमे मदत करता है. पौधे को रोगों से लढ़नेकी ताकत देता है.

roko fungicide

मिर्च :

पौधे में फेल कर फफुन्दो को ख़त्म करता है. जिनमे powdery mildew, anthracnose और fruit rot शामिल है!! साथही पौधे को हराभरा करता है. मिर्च की गुणवता बढाता है. मिर्च मार्केट में असानिसे बिकने में अपनी पकड़ बनाता है!! पोधे को सुरक्षा प्रदान करता है. उपज बढ़ा नेमे मदत करता है!! पौधे को मजबूती देता है साथही विकास करनेमे सहायता करता है.

अरहर :

किसान भाई अरहर में जैसेही हम छिडकाव करते है, यंह अपना काम शुरू कर देता है!! इसमे मुख्यतः fusarium wilt, powdery mildew, leaf spot और anthracnose फफूंद को ख़त्म करता है. पौधे को फफूंद जनित रोगों से बचाता है!! अरहर की उपज बढ़ाने में मदत करता है. पौधे को मजबूती देता है!! साथही विकास करनेमे मदत करता है. हरित लवक की मात्रा को बढाता है. पौधे को स्वस्थ रखता है.

आलू :

आलू में आनेवाले फंगस black scurf, Tuber decay, Tuber rot और leaf spot को कंट्रोल करता है!! साथही उपज को बढ़ा नेमे मदत करता है!! फसल को मजबूती देता है. आलू की क्वालिटी बनाये रखता है, जिससे मार्केट में रेट अच्छा मिलने में मदत होती है!! भूमि जनित रोगों से सुरक्षा प्रदान करता है. पोधे का विकास करनेमे सहायता करता है!! फसल को हरीभरी रखनेमे मदत करता है. इसके अलावा पोधे को रोगों से लढ़नेकी ताकत देता है.

धान :

छिडकाव के तुरंत बाद यंह पौधे में फेल जाता है और फफुन्दो को ख़त्म करता है!! जिसमे Blast और sheath blight शामिल है!! पौधे को सुरक्षा प्रदान करता है. धान की गुणवता बढाता है. उपज बढ़ाने में मदत करता है!! फसल को मजबूती देता है. पोधे का विकास करनेमे सहायता करता है!! फसल को हरीभरी रखनेमे मदत करता है साथही पौधे को रोगों से लढ़नेकी ताकत देता है!! किसान भाई अब बात करते है इसके मार्केट रेट के बारेमे ? खर्चा कितना आ सकता है ?

PRICE/MARKET RATE-

तो यंह लगभग 500gm का पैक 600-700 रू तक आ जाता है!! लोकेशन और मार्केट के अनुसार थोडा price उपर निचे दिख्नेनेको मिल सकता है.
किसान भाई आपके यंहा कितने रेट में मिल रहा है हमे जरुर बताये. इसके इलावा किसान भाई आप इसे ऑनलाइन भी खरीद सकते है. ऑनलाइन ख़रीदारी पर पाये 10-30% की छुट

विशेस सुचना : किसान भाई सस्ती मिलने वाली लोकल दवाईयो की खरीददारी से दूर रहीये. जेन्युइन दवाईयो का चुनाव ही अच्छा रहता है. अछे रिजल्ट मिलते है.

अगर बात करे इसके निर्माता कंपनी के बारेमे, तो यंह BIOSTADT का उत्पाद है!! किसान भाई बता देकी यंही टेक्निकल Thiophanate methyl 70 % WP अन्य कंपनीया भी दे रही है!! ऐसा कुछ नहीं है की आपको ROKO fungicide ही लेना है!! यदि आपके यंहा Roko fungicide उपलब्ध नही है, तो आप यंही टेक्निकल आपके यंहा जो कंपनी दे रही है आप वंह खरीद सकते है!! ध्यान देने की बात यंह है की दवाई जेन्युइन होनी चाहिए. सस्ती लोकल दवाई की खरीद दारी से बचिए, अपना मेहनत का पैसा नुकसान होने से बचाईये. किसान भाई अब हम बात करते है इसके dose के बारे मे ?

DOSAGE-

छिडकाव केलिए आपको लेना है :

150-200 लीटर पानी में 200gm प्रति एकड़, 20-30gm प्रति 15 लीटर पानी में लेकर कर सकते है. 30-40gm प्रति 25 लीटर पेट्रोल पंप.

बिज उपचार केलिए आपको लेना है :

2-3gm प्रति किलो बीज.

यदि आप ड्रेचिंग करना चाहते है. तो आपको लेना है: 2- 4gm प्रति लिटर पानी लेकर कर सकते है!! किसान भाई छिडकाव करने से पहले टंकी को अछेसे से डंडे के सहायतासे अछेसे हिलाले ताकि दवाई अछेसे से घुल मिल जाये!!

कुछ होनेवाले नुकसान और कुछ सावधानिया ?

जेसे की आपको पता है अति किया तो नुकसान होता है ठीक वेसे ही दवाई को अधिक मात्रा में लेकर छिडकाव करनेसे फसल ख़राब हो सकती है!! और ध्यान देने की बात यंह है, की दवाई को बहोत कम मात्रा में लेकर छिडकाव करनेसे दवाई का असर कम होता है!! रिजल्ट नही मिल पाते है. आपको दोबारा स्प्रे करना पड़ सकता है, सही मात्रा लेकर छिडकाव करिए अपना कीमती समय और मजदूरो पर होनेवाले खर्च से बचिए.

मुंह पर कपड़ा न बांध कर छिडकाव करनेसे सांस् लेने में तकलीफ होना!! उलटी आना, सिरदर्द होना, आँखों में जलन होना, पेट दर्द होना यंह कुछ समस्याये आ सकती है!! किसान भाई दवाई जहरीली है कृपया आप इसे अपने बच्चो और अपने जानवरों की पहुंच से दूर रखिये.

अन्य फफूंद नाशक :

अक्सर पूछे जाने वाले कुछ सवाल ?

हम क्या ROKO fungicide और कीटनाशक को एकसाथ दे सकते है ? हाँ .

ROKO fungicide क्या systemic fungicide है? हाँ.

क्या हम Expire हुवा ROKO fungicide इस्तेमाल कर सकते है ? ना करे तो ही अच्छा है.

तो किसान भाई यंह जानकारी आपको केसी लगी हमें कमेंट करके जरुर बताये!! आपका सुजाव हमारे लिए जरूरी है. एसिही अन्य महत्वपूर्ण दवाईयो की latest जानकारी केलिए आप हमारा ब्लॉग subscribe कर सकते है और अन्य किसान भाई से share कर सकते है!! पोस्ट को पढने केलिये आपका बहोत बहोत धन्यवाद् !! तबतक किसान भाई ख्याल रखिये अपना और अपनी फसल का  !! जय हिन्द जय भारत !!

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top