Trichoderma Uses In Hindi ट्राइकोडर्मा के फायदे Price Dosage ?

trichoderma

किसान भाई आज का हमारा ब्लॉग टॉपिक है. Trichoderma फफूंद जो हमे abtec की tricho नामक उत्पाद में मिल जाता है !! इसमे हम जानेंगे Trichoderma से जुडी कुछ महत्वपूर्ण बाते!! जिसमे क्या इसके uses है ? Trichoderma से कोनसा रोग होता है? इसके  क्या फायदे है ? क्या यंह हमारे लिए घातक है ? क्या यंह फसल को नुकसान पहुंचाता है ? यंह किन किन फफुन्दो की रोकथाम करता है ? अगर गलती से इसकी महक हम लेले तो क्या होगा ?

साथही हम जानेंगे, हम कैसे इसे घर पर multiply कर सकते है ? क्या यंह पानी में असानिसे घुल जाता है ? हम घर पर कैसे इसे स्टोर करके रख सकते है ? और साथ ही इससे जुडी कुछ अन्य महत्वपूर्ण बाते ? जानेंगे विस्तारसे!! किसान भाई सबसे पहले हम बात करते है Trichoderma फफूंद की basic जानकारी के बारेमे ?

Trichoderma Basic जानकारी ?

trichoderma

आपकी जानकारी केलिए बता दे की यंह आर्गेनिक eco-friendly फफूंद नाशक है. जो भूमि जनित रोगों को कंट्रोल करता है!! साथही उपरी वातावरण निर्मित फफुन्दो की रोकथाम करता है. जैसेही यंह जमीन में दिया जाता है यंह तुरंत धीरे धीरे बढ़ना शुरू कर देता है!! इसकी एक शाका से दूसरी शाका निकलती है. धीरे धीरे यंह अपनी शकाए बढाता है जैसेही भूमि में मोजूद फफूंद इसके संपर्क में आता है, यंह उसे ख़त्म कर देता है. ध्यान रहे की इसकी बढ़वार केलिए जमीन में पर्याप्त नमी होना बहोत जरुरी है.

Trichoderma फफूंद हम किन किन फसलो में दे सकते है ?

trichoderma

मुख रूपसे हम इसे कपास, सोयाबीन, अदरक, हल्दी, काली मिर्च, सुपारी, दाल वर्गीय फसले, सब्जिवर्गीय फसले, बागवानी, फूलो की खेती में कर सकते है!! किसान भाई अब हम बात करते है इसमे मिलनेवाले टेक्निकल कंटेंट के बारेमे ?

टेक्निकल कोनसा है ?

इसमे किसान भाई हमे Trichoderma 2*10*7 CFU पाउडर फॉर्म में मिलता है. बतादे CFU का मतलब कालिनी फार्मिंग यूनिट होता है!! यंह बताता है की उत्पाद में कितनी मात्रा में फफूंद मौजूद है. अलग अलग उत्पाद में यंह कम ज्यादा होता है. जितनी ज्यादा मात्रा में यंह मिलता है वंह हमारे लिए अच्छा है. खरीदते वक्त आप CFU की मात्रा का ध्यान जरुर रखे!! Rhizobium, Azospirillum, VAM मायकोरायिज़ा, Bio – Potash, Phospho bacteria को कोई नुकसान नही पहुंचाता है.

यंह किन किन फफुन्दो की रोकथाम करता है ?

यंह मुख रूपसे भूमि में रहने वाले फफूंद बैक्टीरिया को ख़त्म करता है. जिससे Root rot, root wilt, seedling rot, color rot, stem rot, blight, leaf spot, Alternaria, downy mildew, powdery mildew, damping off, capsule rot और rhizome rot की समस्या ख़त्म होती है!! किसान भाई अब बात करते है फसलो को मिलनेवाले फायदों के बारेमे ?

Benefits:

कपास :

पौधे को तनाव से बचाता है, फूलो की गलन कम करता है. कपास में powdery mildew, downy mildew, leaf spot, Alternaria फफूंद के बैक्टीरियावो को खत्म करता है. साथही भूमि जनीत अन्य रोगों को खत्म करता है. भूमि को उपजावु बनाने में मदत करता है!! पौधे को सुरक्षा प्रदान करता है. उपज को बढ़ाने केलिये सहायक है. मजबूती देता है. पोधे का विकास करनेमे सहायता करता है. पौधे को हराभरा रखनेमे मदत करता है. पौधे को रोगों से लढ़ नेमे मदत करता है.

अदरक :

अदरक में मुख्यतः Soft rot, rhizome rot, bacterial wilt और leaf spot को ख़त्म करता है. अदरक की क्वालिटी बनाये रखता है. अदरक की उत्पादन बढ़ाने में मदत करता है. फसल को स्वस्थ रखता है. फसल का विकास करनेमे मदत करता है. भूमि जनीत रोगों को खत्म करता है. ध्यान देने की बात यंह है की यंह खुद एक फफूंद है, यदि आप इसके साथ फफूंद नाशक दवाई देते है तो यंह खत्म हो जाता है. हमे इसका कोई असर नही मिलेगा. इसका आप जरुर ध्यान रखे.

हल्दी :

हल्दी में मुख्यतःयंह भूमि में रहने वाले फफूंद बैक्टीरिया को खत्म करता है. जिससे हल्दी की खेती में leaf spot, leaf blotch और Rhizome rot की समस्या खत्म हो जाती है. जिससे पौधे स्वस्थ रहते है. जड़ो का अच्छा विकास होता है. हल्दी की क्वालिटी बढती है. पौधे में हरित लवक की मात्रा बढती है. फसल हरीभरी रहनेमे मदत होती है. पौधे की रोगों से लढ़ नेकी क्षमता को बढ़ता है. किसान भाई जैसे हमने पहले कहा यंह खुद एक फफूंद है इसे फफूंद नाशक दवाई के साथ नही देना है. रिजल्ट नही मिल पाते है. इसके विकास केलिए मिट्ठी में नमी का होना बहुत जरूरी है!! किसान भाई अब हम बात करते है इसके dose के बारे मे ?

Price/ Market Rate:

तो यंह लगभग 1 kg का पैक 100-120 रू तक आ जाता है, लोकेशन के अनुसार थोडा price उपर निचे दिख्नेनेको मिल सकता है. किसान भाई आपके यंहा कितने रेट में मिल रहा है !! हमे कमेंट में जरुर बताये!! किसान भाई विशेस सावधानी की बात यंह है की, आप लोकल सस्ती लगनेवाली दवाईयो की खरीददारी से दूर रहीये. रिजल्ट कम मिलते है !! जेन्युइन दवाईयो का चुनाव ही अच्छा रहता है!! अगर बात करे हम इसके निर्माता कंपनी के बारेमे तो यंह abtec का उत्पाद है. इसके अलावा किसान भाई आप इसे ऑनलाइन भी खरीद सकते है !! ऑनलाइन ख़रीदारी पर पाये 10-40% की छुट

किसान भाई बता दे की यंही टेक्निकल Trichoderma अन्य कंपनीया भी दे रही है. ऐसा कुछ नहीं है की आपको सिर्फ TRICHO ही लेना है !! यदि आपके यंहा उपलब्ध है तो आप वंह खरीद सकते है. अगर नही है तो यंही टेक्निकल आपके यंहा जो कंपनी दे रही है, आप वंह खरीद सकते है. साथही आप इसे ऑनलाइन भी मंगवा सकते है. लेकिन किसान भाई ध्यान रहे लोकल दवाईयों की खरीददारी से बचके, अपनी मेहनत का पैसा और अपनी फसल को नुकसान से बचाईये. उत्पाद का  CFU यूनिट जरुर चेक करे.

Dosage:

किसान भाई यदि आप बागवानी की खेती कर रहे है, तो आपको 20 gram प्रति पौधे के दरसे पौधे की जडो के पास दे देना है!! साथही बीज उपचार केलिए आप 25 gram प्रति 1 kg बीज के दरसे ले सकते है. बीज उपचारित करने के बाद आपको इसे छाव में आधे घंटे केलिए सुखा देना है, ताकि यंह बीजो के साथ अछेसे चिपक जाये. भूमि में फेलाने केलिए आप 20kg प्रति हेक्टर ले सकते है.

खेत में पानी चलाते समय भी आप इसे पानी के साथ दे सकते है. पौधे के किसी भी स्टेज में आप इसे दे सकते है. बस ध्यान रहे की खेत मे नमी होना जरूरी है!! विशेस सावधानी की बात यंह है की आप इसे किसी फफूंद नाशक दवाई के साथ ना दे. रिजल्ट नही मिलते है. यंह खुद ही एक फफूंद होने की वजह से फफूंद नाशक दवाईया इसे ख़त्म कर देती है!! किसान भाई अब हम बात करते है इसके मार्केट रेट के बारेमे ? खर्चा कितना आ सकता है ?

किसान भाई अब बात करते है कुछ होनेवाले नुकसान के बारेमे ? और कुछ सावधानिया के बारेमे ?

Side effects & Precaution:

जेसे की आपको पता है अति किया तो नुकसान होता है. ठीक वेसे ही दवाई को अधिक मात्रा में लेकर इस्तेमाल करनेसे फसल ख़राब हो सकती है!! और ध्यान देने की बात यंह है की दवाई को बहोत कम मात्रा में लेकर इस्तेमाल करनेसे दवाई का असर कम होता है. जरूरी रिजल्ट नही मिल पाते है. आपको दोबारा स्प्रे करना पड़ सकता है, सही मात्रा लेकर छिडकाव करिए अपना कीमती समय और मजदूरो पर होनेवाले खर्च को बचाईये !! किसान भाई अब हम बात करते है की हम कैसे इसे घर पर multiply कर सकते है ?

Multiply at Home –

आपको 1 kg Trichoderma  लेना है +  1 kg गूढ़ लेना है साथमे आप अपनी अवशकता के अनुसार पानी ले सकते है. आप चाहे तो गूढ़ की मात्रा बढ़ा भी सकते है. तिन्हो एकसाथ 1 बकेट में मिलाकर अछेसे घोल ले और बकेट को किसी बर्तन से टाइट ढक कर 7-10 दिन केलिए छांव वाली जगह याफिर जंहा थोड़ी ठंड रहती है वंहा रखदे. 7-10 दिन में यंह इस्तेमाल करने केलिए तयार हो जाता है. उसके बाद आप इसे इस्तेमाल कर सकते है.

अन्य लेख :

तो किसान भाई यंह जानकारी आपको केसी लगी हमें कमेंट करके जरुर बताये, आपका सुजाव हमारे लिए जरूरी है. एसिही अन्य महत्वपूर्ण दवाईयो की latest जानकारी केलिए आप हमारा ब्लॉग subscribe कर सकते है और अन्य किसान भाई से share कर सकते है!! पोस्ट को पढने केलिये आपका बहोत बहोत धन्यवाद् !! तबतक किसान भाई ख्याल रखिये अपना और अपनी फसल का  !! जय हिन्द जय भारत !!

अक्सर पूछे जाने वाले कुछ सवाल ?

क्या Trichoderma यंह केमिकल फफूंद है ? नही , यंह जैविक (आर्गेनिक) फफूंद है.

Trichoderma की महक लेने के नुकसान क्या है ? गला ख़राब होना, asthma की समस्या, lung इन्फेक्शन हो सकता है.

क्या Trichoderma से पौधे को नुकसान पहुंचता है ? नही.

हम क्या Trichoderma  से फफूंद जनित रोगों को कंट्रोल कर सकते है ? हाँ.

हम क्या Trichoderma और फफूंद नाशक दवाई को एकसाथ दे सकते है ? नही.

क्या Trichoderma  अफ्रीकन थ्रिप्स  को कंट्रोल करता है ? नही.

सब्जी वर्गीय फसलो में इस्तेमाल कर सकते है क्या ? हाँ.

क्या Trichoderma  पानी में असानिसे घुल जाता है ? हाँ.

क्या Trichoderma से हमे नुकसान होता है ? नही.

क्या हम Expire हुवा Trichoderma इस्तेमाल कर सकते है ? ना ही करे तो अच्छा है रिजल्ट कम आने के चांसेस बढ़ जाते है.

पोस्ट को शेयर करे

Leave a Comment